Purnima 2024: कब है पूर्णिमा 2024 में व्रत! जानें तिथियों के बारें में सही जानकारी!

Purnima 2024: पूर्णिमा 2024, पूर्ण चंद्रमा का मनमोहक चरण, एक चमकदार खगोलीय तमाशे के रूप में संस्कृतियों में नृत्य करता है, जो दुनिया पर अपनी उज्ज्वल चमक बिखेरता है। अपनी प्रतिभा में, पूर्णिमा (Purnima) संपूर्णता, रोशनी और उत्सव के समय की शुरुआत करती है, जो अपनी दिव्य सुंदरता से दिलों को मंत्रमुग्ध कर देती है।

पूर्णिमा 2024, जैसे ही चंद्र चक्र अपने चरम पर पहुंचता है, पूर्णिमा (Purnima) उभरती है, जो रात के आकाश को अपनी देदीप्यमान चमक से रोशन करती है। इसका आगमन पूर्णता, प्रचुरता और ऊर्जा की पराकाष्ठा का प्रतीक है। यह चरण, हर 29.5 दिन में घटित होता है, चंद्रमा के बढ़ते चक्र के चरम का प्रतिनिधित्व करता है, जो पूर्णता और जीवंतता की भावना को आमंत्रित करता है।

पूर्णिमा (Purnima) विभिन्न परंपराओं और आध्यात्मिक प्रथाओं में गहराई से प्रतिबिंबित होती है। हिंदू धर्म में, इसका विशेष महत्व है, इसे अनुष्ठानों, प्रार्थनाओं और उत्सवों के साथ मनाया जाता है। भक्त पूजा-अर्चना, देवताओं का सम्मान करने और आशीर्वाद मांगने में संलग्न होते हैं, साथ ही इस शुभ समय का उपयोग धर्मार्थ कार्यों और आध्यात्मिक चिंतन के लिए भी करते हैं।

धार्मिक अनुष्ठानों से परे, पूर्णिमा (Purnima) एक सार्वभौमिक आकर्षण रखती है, जो लोगों को अपनी मनोरम आभा में खींचती है। इसकी चमक ने सदियों से कवियों, कलाकारों और स्वप्न देखने वालों को प्रेरित किया है, जो संपूर्णता, ज्ञानोदय और मानवीय आत्मा की चमक का प्रतीक है।

साल 2024 में पूर्णिमा 2024 (Purnima) तिथियां कब-कब है?

हिन्दू पंचाग के अनुसार, साल 2024 में पूर्णिमा (Purnima) 25 जनवरी, 24 फरवरी, 25 मार्च, 23 अप्रैल, 23 मई, 22 जून, 21 जुलाई, 19 अगस्त, 18 सितम्बर, 17 अक्टूबर, 15 नवंबर और 15 दिसंबर को हैं। आईये जानते हैं नए साल 2024 में आने वाले पूर्णिमा (Purnima) की तिथियों (Purnima Tithi 2024) के बारें में।

  • 25 जनवरी 2024, बृहस्पतिवार, पौष पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ – 24 जनवरी 2024, रात 09:49 बजे से,

समाप्त – 25 जनवरी 2024, रात 11:23 बजे तक।

  • 24 फरवरी 2024, शनिवार, माघ पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 23 फरवरी 2024, शाम 03:33 बजे से,

समाप्त- 24 फरवरी 2024, शाम 05:59 बजे तक।

  • 25 मार्च 2024, सोमवार, फाल्गुन पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 24 मार्च 2024, सुबह 09:54 बजे से,

समाप्त-  25 मार्च 2024, दोपहर 12:29 बजे तक।

  • 23 अप्रैल 2024, मंगलवार, चैत्र पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 23 अप्रैल 2024, रात 03:25 बजे से,

समाप्त- 24 अप्रैल 2024, सुबह 05:18 बजे तक।

  • 23 मई 2024, बृहस्पतिवार, वैशाख पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 22 मई 2024, शाम 06:47 बजे से,

समाप्त- 23 मई 2024,शाम 07:22 बजे तक।

  • 22 जून 2024, शनिवार, ज्येष्ठ पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 21 जून 2024, सुबह 07:31 बजे से,

समाप्त- 22 जून 2024, सुबह 06:37 बजे तक।

  • 21 जुलाई 2024, रविवार, आषाढ़ पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 20 जुलाई 2024, शाम 05:59 बजे से,

समाप्त- 21 जुलाई 2024, दोपहर 03:46 बजे तक।

  • 19 अगस्त 2024, सोमवार, श्रावण पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 18 अगस्त 2024, रात 03:04 बजे से,

समाप्त- 19 अगस्त 2024, रात 11:55 बजे तक।

  • 18 सितम्बर 2024, बुधवार, भाद्रपद पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 17 सितम्बर 2024, सुबह 11:44 बजे से,

समाप्त- 18 सितम्बर 2024, सुबह 08:04 बजे तक।

  • 17 अक्टूबर 2024, बृहस्पतिवार, आश्विन पूर्णिमा (Purnima)

प्रारम्भ- 16 अक्टूबर 2024, रात 08:40 बजे से,

समाप्त- 17 अक्टूबर 2024, दोपहर 04:55 बजे तक।

  • 15 नवम्बर 2024, शुक्रवार, कार्तिक पूर्णिमा (Purnima) 

प्रारम्भ- 15 नवम्बर 2024, सुबह 06:19 बजे से,

समाप्त- 16 नवम्बर 2024, रात 02:58 बजे तक।

  • 15 दिसम्बर 2024, रविवार, मार्गशीर्ष पूर्णिमा (Purnima) 

प्रारम्भ- 14 दिसम्बर 2024, शाम 04:58 बजे से

समाप्त- 15 दिसम्बर 2024,दोपहर 02:31 बजे से

पूर्णिमा 2024 का ज्योतिष में क्या महत्व है?

ज्योतिषीय रूप से, पूर्णिमा (Purnima) उच्च ऊर्जा के समय का प्रतीक है, जहां भावनाएं बढ़ती हैं और इरादे अधिक शक्ति के साथ प्रकट होते हैं। यह आत्मनिरीक्षण, कृतज्ञता और विकास और अभिव्यक्ति के इरादे स्थापित करने के लिए परिपक्व चरण है।

पूर्णिमा (Purnima) प्रकाश की किरण के रूप में खड़ी है, अंधकार को दूर करती है और आशा का संचार करती है। इसकी चमक हमें जीवन की परिपूर्णता का आनंद लेने, हमारे चारों ओर की सुंदरता की सराहना करने और आध्यात्मिक विकास और व्यक्तिगत विकास की यात्रा पर निकलने के लिए आमंत्रित करती है।

Leave a Comment